Pages

Friday, June 7, 2013

संभव है तम उस पार नहीं

वो चमन के खात्मे की साजिश थी,चमन में ज़िन्दगी नागवार थी उनको ,चाहते थे मुस्कुराहटें बंद हो जाएँ और चमन में सिर्फ अफ़सोस का मौहोल रहे , और चेहरे पर सफ़ेद मातम लपेटे परिंदे , आँखों में लहू लिए एक दुसरे को नफरत से घूरा करें
बस यही तो था उनका मकसद
दरअसल वो जब चमन में पहली बार आये तो यहाँ के सुकून ने उनको भीतर तक जला दिया आखिर लोग खुश कैसे है , ज़िन्दगी में ख़ुशी नहीं होनी चाहिए या कहें के उनकी ज़िन्दगी में खुशियाँ आती नहीं थी तो जलन होनी थी, इतनी तकलीफों में भी मुस्कुराने का माद्दा उनमें नहीं था तो बस वो दिन उन्होंने लोगों को पहले प्यार से पास बुलाया फिर ...किसी को पंखो से पकड़ा तो किसी को गर्दन से ...शोर हुआ,सिस्कारियां गूंजी ..कलरव कोलाहल में बदल गया विरोध हुआ पर कोई हल नहीं .... अब सब चमन में खामोश थे

 साँसे दूभर हो सकती है
राहे बोझिल हो सकती है
भटकाव बहुत संभव है
सही दिशा खो सकती है 

ये तो सफ़र की  बात रही
मंजिल का सरोकार नहीं
इस पार घना अँधियारा है
संभव है तम उस पार नहीं

जीवन की पुस्तक में तो
मृत्यु सिर्फ एक घटना है
सूर्यग्रहण सा है अंधियारा
कुछ पल में यह हटना है

19 comments:

  1. माहौल ठीक नहीं लग रहा है , उम्मीद थी पिज़्ज़ा खाने के बाद कुछ ठीक होगा !!!

    लिखा बढ़िया है !!!!

    ReplyDelete
  2. जीवन की पुस्तक में तो
    मृत्यु सिर्फ एक घटना है
    सूर्यग्रहण सा है अंधियारा
    कुछ पल में यह हटना है

    यही सच्चाई है ... अच्छी प्रस्तुति

    ReplyDelete
  3. आपको यह बताते हुए हर्ष हो रहा है के आपकी यह विशेष रचना को आदर प्रदान करने हेतु हमने इसे आज (शुक्रवार, ७ जून, २०१३) के ब्लॉग बुलेटिन - घुंघरू पर स्थान दिया है | बहुत बहुत बधाई |

    ReplyDelete
  4. एक सच जो कडवा है

    ReplyDelete
  5. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा शनिवार(8-6-2013) के चर्चा मंच पर भी है ।
    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
  6. आपकी यह रचना कल शनिवार (08-06-2013) को ब्लॉग प्रसारण पर लिंक की गई है कृपया पधारें.

    ReplyDelete
  7. सबसे खूबसूरत चीजों पर शैतान की निगाह सबसे पहले पड़ती है इतिहास इसका गवाह रहा है।

    ReplyDelete
  8. itni mayoosi kyun?

    kya hua....sab theek hai na....

    aap muskurati achhi lagti hain :)

    Love

    naaz

    ReplyDelete
  9. हम बद्ध समय से नहीं वहाँ

    ReplyDelete
  10. सच है की खुशी देखि नहीं जाती किसी से ... चमन को सब उजाडना ही चाहते हैं ...

    ReplyDelete
  11. जीवन की पुस्तक में तो
    मृत्यु सिर्फ एक घटना है
    सूर्यग्रहण सा है अंधियारा
    कुछ पल में यह हटना है!

    ज़ोरदार! दार्शनिक!
    ढ़
    --
    थर्टीन ट्रैवल स्टोरीज़!!!

    ReplyDelete
  12. सबसे खूबसूरत चीजों पर शैतान की निगाह सबसे पहले पड़ती है इतिहास इसका गवाह रहा है।
    vashikaran mantra for husband

    ReplyDelete
  13. साधो, देखो जग बौराना ।
    साँची कही तो मारन धावै, झूठे जग पतियाना ।
    हिन्दू कहत,राम हमारा, मुसलमान रहमाना ।
    आपस में दौऊ लड़ै मरत हैं, मरम कोई नहिं जाना ।
    बहुत मिले मोहि नेमी, धर्मी, प्रात करे असनाना ।
    आतम-छाँड़ि पषानै पूजै, तिनका थोथा ज्ञाना ।
    आसन मारि डिंभ धरि बैठे, मन में बहुत गुमाना ।
    पीपर-पाथर पूजन लागे, तीरथ-बरत भुलाना ।
    माला पहिरे, टोपी पहिरे छाप-तिलक अनुमाना ।
    साखी सब्दै गावत भूले, आतम खबर न जाना ।
    घर-घर मंत्र जो देन फिरत हैं, माया के अभिमाना ।
    गुरुवा सहित सिष्य सब बूढ़े, अन्तकाल पछिताना ।
    बहुतक देखे पीर-औलिया, पढ़ै किताब-कुराना ।
    करै मुरीद, कबर बतलावैं, उनहूँ खुदा न जाना ।
    हिन्दू की दया, मेहर तुरकन की, दोनों घर से भागी ।
    वह करै जिबह, वो झटका मारे, आग दोऊ घर लागी ।
    या विधि हँसत चलत है, हमको आप कहावै स्याना ।
    कहै कबीर सुनो भाई साधो, इनमें कौन दिवाना ।

    my share keyword: - woman vashikaran mantras and get your love back by astrology.

    ReplyDelete