Pages

Wednesday, June 9, 2010

कल रुत तुमको तरसाए

नभ में उमड़े घन बड़े


बिजली भी बिन बात लड़े

तुम भी रूठे-रूठे से

बोलो कैसे बात बढे

बूंदे छेड़े जब मुझको

हवा दिखाए रंग नए

तुम्हे लगा मैं भूल गई

तुम भी तो थे संग खड़े

मेघ सदा बरसाए मद

जब तुम मेरे साथी हो

कैसे ना मदहोश हो हम

नयन तुम्हारे साकी हो

ऐसा ना हो तन भीगे

मन सूखा  सा रह जाए

आज मुझे तड़पाते हो

कल रुत तुमको तरसाए

20 comments:

  1. बहुत सुंदर !
    कविता को एक नए अंदाज़ में परिभाषित किया है आप ने !

    ReplyDelete
  2. kya baat hai kya bat hai ... kaun jane kya hone wala hai .. :) rumaniyat ki badli is kavita me bhi chaayi hai ..

    ReplyDelete
  3. इसे तो गुनगुनाने में बड़ा मज़ा आ रहा है..

    ReplyDelete
  4. @कुश
    सोचा तो था अपनी आवाज़ में रिकॉर्ड करके पोस्ट करूँ... पर ..

    ReplyDelete
  5. अच्छी कविता..

    ReplyDelete
  6. sonal..har lafz rumani hai :)

    ReplyDelete
  7. waah waah bahut achche pyaar ka gumaan...bahut sundar

    ReplyDelete
  8. बहुत खूबसूरत रचना.....बारिश का एहसास सा कराती ..

    ReplyDelete
  9. मेघ सदा बरसाए मद
    जब तुम मेरे साथी हो
    कैसे ना मदहोश हो हम
    नयन तुम्हारे साकी हो ...

    बारिश का मौसम और पी क संग .... फिर तो हर शै मद हो जाती है ... बहुत अनुपम ..

    ReplyDelete
  10. सुन्दर भाव. रुमानियत से लबरेज.सूखा शब्द ठीक कर लेँ

    ReplyDelete
  11. kya baat hai didi bahut acchi likhi hai

    ReplyDelete
  12. @Satya ..thanks change kar diyaa

    ReplyDelete
  13. बहुत बढि़या!

    ReplyDelete
  14. बहुत अच्छा लगा आपका यह उलाहनापूर्ण गीत!
    --
    आपसे परिचय करवाने के लिए संगीता स्वरूप जी का आभार!
    --
    आँखों में उदासी क्यों है?
    हम भी उड़ते
    हँसी का टुकड़ा पाने को!

    ReplyDelete
  15. मैं तो अपने छत्तीसगढ़ में बारिश का इन्तजार कर रहा हूं।
    पानी के गिरते ही मैं मोटर सायकिल लेकर भींगने के लिए निकलने वाला हूं। आपकी पोस्ट को पढ़ने के बाद मैंने तैयारी कर ली है और रेनकोट भी रख लिया है.... ज्यादा भीगना भी ठीक नहीं होता है ऐसा मुझे बताया गया है।

    ReplyDelete
  16. आज मुझे तड़पाते हो ..कल रुत तुमको तरसाए.......बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
  17. अब इसे दोबारा पोस्ट कर दें। पानी भी बरस रहा है। अपनी आवाज में गाकर पोस्ट करिये।

    ReplyDelete